Monday, 24 June 2013

Benakab: मधु सिंह : तुम न आये

Benakab: मधु सिंह : तुम न आये:           तुम न आये           सो गये सब दिये शाम के वक्त ही          जिंदगी  जिंदगी  से  उलझती गई          रात  आती   रही   रात  जात...

2 comments:

  1. बेहतरीन व सुन्दर रचना
    शुभ कामनायें...

    ReplyDelete